डॉ॰ सूर्या बाली "सूरज"

यकीं मुझको है तुम आओगे इक दिन

header photo

कापर-टी: एक गर्भ निरोधक साधन

November 21, 2011 at 09:28

कापर-टी एक अस्थायी गर्भ निरोधक साधन है।

अवांछित गर्भ रोकना, इसका मात्र प्रयोजन है॥

तीन साल का अंतराल यदि बच्चों मे रखना चाहें।

मुफ़्त मे, स्वास्थ्य केंद्र पर जाकर कापर-टी लगवा लें॥


अंतराल यदि बच्चों मे रखेगें तो बेहतर होगा॥

अच्छी शिक्षा और स्वास्थ्य उनके लिए हितकर होगा॥

बच्चेदानी  के भीतर यदि कापर-टी लगा दी जाती है।

जब बच्चे की चाहत हो, आसानी से हटा दी जाती है॥


डिंब और शुक्राणु को ये मिलने से रोक देती है।

एक भरोसे मंद उपाय जो बहुत सुरक्षा देती है॥

प्रशव के छः हफ़्ते बाद, या गर्भ समापन जब करवाएँ।

या मासिक धर्म के तुरंत बाद मे कापर-टी लगवाएँ॥


कुछ महिलाओं को कापर-टी थोड़ा कष्ट दे सकती है।

अधिक माहवारी या पेंड़ू मे पीड़ा कर सकती है॥

कुछ ही दिन मे ये दिक्कत स्वतः दूर हो जाती है।

डॉक्टर से संपर्क करें यदि दिक्कत ज़्यादा आती है॥


पहला बच्चा होने के बाद ही कापर-टी लगवाएँ॥

तीन साल तक मस्त रहे और गर्भ से छुट्टी पाएँ॥

साफ हाथ से बीच बीच मे धागे का अनुभव किया करें॥

संक्रामण न होने पाये इस बात का ध्यान भी दिया करें॥


योनि मे कोई संक्रामण हो या अनियमित माहवारी हो।

पेट मे बच्चा पलटा हो या एनीमिया की बीमारी हो॥

बच्चे दानी मे यदि सूजन, कैंसर, ट्यूमर हो जाएँ ।

ऐसी स्थितियों मे कभी भी कापर-टी न लगवाएँ॥


कापर-टी विश्वसनीय तरीक़ा, हँसी ख़ुशी अपनाएं।

वैवाहिक जीवन का सुख ले, अनचाहे गर्भ से छुट्टी पाएँ॥

बातें “सूरज” की मानें, बस दो ही फूल खिलाएँ ॥

बढ़ती जनसंख्या को कम करें, कापर-टी लगवाएँ॥


                                             डॉ॰ सूर्या बाली “सूरज”

Go Back

Comments for this post have been disabled.